Dil se Singer

महफ़िल ए कहकशां – 3 – बम बम बम भोला..! रसन पिया अपनी रचना में गा कर सुनाते हैं शिव पार्वती विवाह वृत्तान्त के समय किस तरह नाग को देख पंडित तक काँप जाते हैं।

महफिले कहकशां (३)



उस्ताद अब्दुल रशीद साहब 
दोस्तों सुजोय और विश्व दीपक द्वारा संचालित “कहकशां” और “महफिले ग़ज़ल” का ऑडियो स्वरुप लेकर हम हाज़िर हैं, महफिले कहकशां के रूप में पूजा अनिल और रीतेश खरे  के साथ।  अदब और शायरी की इस महफ़िल में आज सुनिए उस्ताद अब्दुल रशीद खान उर्फ़ रसन पिया को श्रद्धांजलि उन्ही की गाई एक बंदिश से।  



मुख्य स्वर – पूजा अनिल एवं रीतेश खरे 
स्क्रिप्ट – विश्व दीपक एवं सुजॉय चटर्जी

Related posts

रोको आत्महत्याएँ….जगाओ आत्मविश्वास… अभिजीत सावंत और पल्लव पाण्डया की संगीतमयी पहल

Amit

बहाए चाँद ने आँसू ज़माना चांदनी समझा…हेमंत दा का गाया एक बेमिसाल गीत

Sajeev

ओल्ड इस गोल्ड – शनिवार विशेष – अभिनेत्री व फ़िल्म-निर्मात्री आशालता के जीवन की कहानी उन्हीं की सुपुत्री शिखा बिस्वास वोहरा की जुबानी

Sajeev

1 comment

Vinode Dudani April 22, 2016 at 6:47 pm

Excellent !

Reply

Leave a Comment