Dil se Singer

बस कुछ प्रतियाँ शेष हैं प्रथम संस्करण के – ’कारवाँ सिने संगीत का – 1931-1947′

प्रिय पाठकों,

सुजॉय चटर्जी लिखित पुस्तक ’कारवाँ सिने संगीत का – उत्पत्ति से स्वराज के बिहान तक (1931-1947)’ के प्रथम संस्करण के अब बस कुछ ही प्रतियाँ शेष हैं।
द्वितीय संस्करण जल्द ही प्रकाशित होगी, पर संभव है कि प्रकाशक इसमें मूल्य वृद्धि करेंगे। अत: आपको यह सूचित किया जाता है कि अगर आप इस पुस्तक के प्रथम संस्करण को प्राप्त करने के इच्छुक हैं तो शीघ्रातिशीघ्र सुजॉय चटर्जी से ईमेल आइडी soojoi_india@yahoo.co.in सम्पर्क करें और इस पुस्तक की प्रति अपने लिए सुरक्षित करें।
पुस्तक मूल्य: INR 595.00 (पोस्टल चार्ज सहित)



Related posts

एक हजारों में मेरी बहना है…रक्षा बंधन पर शायद हर भाई यही कहता होगा…

Sajeev

सुनो कहानी: हमारा मुल्क – इब्ने इंशा

Amit

“मैं तब से गाती हूँ, जब बोल तक नहीं पाती थी” – श्रेया शालीन : एक मुलाकात ज़रूरी है

Sajeev

Leave a Comment