Dil se Singer

हिंदी फिल्म इतिहास का वो साल : सन १९५६ : मेरे ये गीत याद रखना


साल १९५६, कैसा था हिंदी फिल्म के इतिहास का, किन गीतों ने मचाई धूम, किन संगीतकारों का रहा दबदबा, किन गीतकारों ने चलाया कलम का जादू, वो कौन सी आवाजें थी जिन्होंने श्रोताओं के दिलों पर राज़ किया, जानिए इस साल की कहानी कार्यक्रम “मेरे ये गीत याद रखना” के इस एपिसोड में, आपके प्रिय विवेक श्रीवास्तव के साथ

Related posts

"क्रूक" में कुमार के साथ तो "आक्रोश" में इरशाद कामिल के साथ मेलोडी किंग प्रीतम की जोड़ी के क्या कहने!!

Amit

तेरी आवाज़ आ रही है अभी…. महफ़िल-ए-शाइर और "नासिर"

Amit

देर रात को गाये जाने वाले राग अडाना में बने हैं बेहद कम मगर मधुरतम गीत

Sajeev

Leave a Comment