Dil se Singer

हार की जीत (सुदर्शन)

लोकप्रिय स्तम्भ “बोलती कहानियाँ” के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवाते रहे हैं नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने मोनिका गुप्ता के स्वर में उन्हीं की व्यंग्य रचना “बिजली जाने का सुख” का पाठ सुना था।

आज हम आपके लिए लेकर आये हैं हिन्दी के अमर साहित्यकार पण्डित सुदर्शन की कालजयी रचना “हार की जीत“, उषा छाबड़ा के स्वर में।

इस कहानी हार की जीत का गद्य भारत दर्शन पर उपलब्ध है. कहानी का कुल प्रसारण समय 11 मिनट 34 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।



पं0 बद्रीनाथ भट्ट “सुदर्शन” (1896-1967)

प्रेमचन्द, कौशिक और सुदर्शन, इन तीनों ने हिन्दी में कथा साहित्य का निर्माण किया है।

~ भगवतीचरण वर्मा (हम खंडहर के वासी)


हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी


“खड़गसिंह उस इलाके का प्रसिद्ध डाकू था। लोग उसका नाम सुनकर काँपते थे।”
 (पं0 सुदर्शन की कथा “हार की जीत” से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर ‘प्ले’ पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
हार की जीत mp3


#Eighteenth Story, Har Ki JeetHar Ki Jeet; Pt Sudarshan; Hindi Audio Book/2015/18. Voice: Usha Chhabra

Related posts

कैसे छुपाऊँ राज़-ए-ग़म…आज की महफ़िल में पेश हैं "मौलाना" के लफ़्ज़ और दर्द-ए-"अज़ीज़"

Amit

सब कुछ सीख कर भी अनाड़ी रही रंजना भाटिया

Sajeev

सुर्खियों से बुनती है मकड़ी की जाली रे.. "नो वन किल्ड जेसिका" के संगीत की कमान संभाली अमित-अमिताभ ने

Amit

2 comments

Unknown October 4, 2015 at 6:01 pm

Well narrated by Usha Chhabra

Reply
Ush December 18, 2016 at 3:46 pm

आपका हार्दिक धन्यवाद।

Reply

Leave a Comment