Dil se Singer

बम भोलेनाथ – बाबा नागार्जुन

लोकप्रिय स्तम्भ “बोलती कहानियाँ” के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवाते रहे हैं नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने अनुराग शर्मा के स्वर में उत्तर प्रदेश के सर्व शिक्षा अभियान की कलाई खोलती असित कुमार मिश्र की हृदयस्पर्शी कथा “सर्व शिक्षा अभियान” का पाठ सुना था।

आज हम आपका परिचय एक नई वाचिका उषा छाबड़ा से करा रहे हैं। आज आपकी सेवा में प्रस्तुत है, अमर साहित्यकार वैद्यनाथ मिश्र “बाबा नागार्जुन” का व्यंग्य बम भोलेनाथ, उषा छाबड़ा के स्वर में।

इस कहानी बम भोलेनाथ का कुल प्रसारण समय 6 मिनट 30 सेकंड है। इसका गद्य अभिव्यक्ति पर उपलब्ध है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।



एक पूत भारतमाता का,
कन्धे पर है झन्डा,
पुलिस पकड कर जेल ले गई, बाकी बच गया अंडा।
~ वैद्यनाथ मिश्र “नागार्जुन” (३० जून १९११ – ५ नवंबर १९९८)


हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी


” उस सर्वज्ञ में चमत्कार देखने के लिए आखिर मैं भी दर्शकों में शामिल हो ही गया।”
 (बाबा नागार्जुन की कथा “बम भोलेनाथ” से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर ‘प्ले’ पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
बम भोलेनाथ MP3


#Sixteenth Story, Bam Bholenath; Baba Nagarjun; Hindi Audio Book/2015/16. Voice: Usha Chhabra

Related posts

"कहीं भी अपना नहीं ठिकाना" – ऐसे भूले बिसरे गीत का ठिकाना केवल 'आवाज़' ही है

Sajeev

बात तो सच है मगर बात है रुस्वाई की.. नारी-मन में मचलते दर्द को दिल से उभारा है परवीन और मेहदी हसन ने

Amit

महंगाई डायन को दुत्कारकर बाहर किया "पीपलि" वालों ने और "खट्टे-मीठे" पलों को कहा नाना ची टाँग

Amit

1 comment

ब्लॉग बुलेटिन September 15, 2015 at 6:58 pm

ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, स्कूली जीवन और बॉलीवुड के गीत – ब्लॉग बुलेटिन , मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है … सादर आभार !

Reply

Leave a Comment