Dil se Singer

शौर्यगाथा : परमवीर चक्र विजेता सूवेदार जोगेन्द्र सिंह

‘रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ की ओर से सभी पाठकों और श्रोताओं को दीपावली पर हार्दिक मंगलकामनाएँ

आपकी आवाज़ – हमारा मंच

शौर्यगाथा : परमवीर चक्र से विभूषित अमर बलिदानी सूवेदार जोगेन्द्र सिंह


इन दिनो ‘रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ की ओर से अपने श्रोताओं और पाठकों की
अभिरुचि जानने के लिए सर्वेक्षण कार्यक्रम चलाया जा रहा है। नये वर्ष में
हम आपकी पसन्द के कार्यक्रमों के साथ आपके बीच आने की तैयारी कर रहे हैं।
हमारे एक पाठक और श्रोता निधीश गोयल ने अपनी आवाज़ में अमर बलिदानी, परमवीर
चक्र विजेता सूवेदार जोगेन्द्र सिंह की शौर्यगाथा भेजी है। श्रव्य माध्यम
में प्रस्तुत इस कार्यक्रम के बारे में आप अपने सुझाव और टिप्पणियाँ भेज
सकते हैं। 

 
परमवीर चक्र विजेता सूवेदार जोगेन्द्र सिंह की 
धर्मपत्नी श्रीमती गुरदयाल कौर को 
23 अक्तूबर 2006 को भारतीय सेना द्वारा 
आयोजित एक समारोह में  सम्मानित किया गया
सूवेदार जोगेन्द्र सिंह
देश की रक्षा में अनेकानेक राष्ट्रभक्तों ने अपने प्राणों की आहुतियाँ दी है। ऐसे ही बलिदानियों की सूची में एक नाम सूवेदार जोगेन्द्र सिंह का है, जिन्होने 1962 के चीनी आक्रमण के समय सीमा की रक्षा में अदम्य साहस का परिचय देते हुए अपने प्राणों का उत्सर्ग किया था। 26 सितम्बर 1921 को मोंगा, पंजाब के एक सिख परिवार में जन्में जोगेन्द्र सिंह के पिता का नाम शेर सिंह सहनान और माता का नाम कृष्णा कौर था। 28 सितम्बर 1936 को ब्रिटिश-भारतीय सेना के सिख रेजीमेंट में उनकी नियुक्ति हुई थी। 1962 के चीनी आक्रमण के समय उनकी तैनाती नेफ़ा क्षेत्र के तवांग सेक्टर में हुई थी। इसी सीमा पर दुश्मन से वीरतापूर्वक मुक़ाबला करते हुए जोगेन्द्र सिंह वीरगति को प्राप्त हुए थे। भारत सरकार ने उन्हें मरणोपरान्त परमवीर चक्र प्रदान किया था। लीजिए, ‘रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ पर श्रव्य माध्यम से सुनिए, अमर बलिदानी, परमवीर चक्र सम्मान प्राप्त सूवेदार जोगेन्द्र सिंह की शौर्यगाथा। वाचक स्वर निधीश गोयल का हैं।

शौर्यगाथा : माँ तुझे सलाम : परमवीर चक्र से विभूषित सूवेदार जोगेन्द्र सिंह : वाचक स्वर – निधीश गोयल

आपको हमारी यह प्रस्तुति कैसी लगी? अपनी प्रतिक्रिया हमे अवश्य लिखें। आप
‘रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ पर किस प्रकार के कार्यक्रम पढ़ना या सुनना चाहते
हैं, उसकी फरमाइश भी कर सकते हैं। हमारे नियमित स्तम्भों में यदि आप कोई
संशोधन या परिवर्तन चाहते हों तो हमें अपने विचारों से अवगत कराएँ। हमारा
ई-मेल पता है-
radioplaybackindia@live.com 

वाचक स्वर : निधीश गोयल 
सम्पादक : सजीव सारथी 

Related posts

“नादान परिन्दे घर आजा” – अर्थपूर्ण गीत आज भी बनते हैं फ़िल्मों के लिए

PLAYBACK

२५ अप्रैल- आज का गाना

Amit

पद्मश्री हुए अमीन सयानी- आवाज़ की विशेष प्रस्तुति

Amit

Leave a Comment