Dil se Singer

तुझे ओर की तम्मंना मुझे तेरी आरज़ू है….

खरा सोना गीत – जिसे तू कबूल कर ले 

चंद्रमुखी के समर्पण को उभरता ये गीत है जिसमें लोक संगीत की भी महक है, जानिये इस गीत से जुडी कुछ और बातें हमारी प्रस्तोता श्वेता पाण्डेय के साथ, स्क्रिप्ट है सुजोय की और प्रस्तुति है संज्ञा टंडन की.  

Related posts

नदी जो झील बन गई – सौरभ शर्मा

Smart Indian

राग नन्द : SWARGOSHTHI – 408 : RAG NAND

कृष्णमोहन

मन लागो यार फ़क़ीरी में: कबीर की साखियों की सखी बनकर आई हैं आबिदा परवीन, अगुवाई है गुलज़ार की

Amit

2 comments

dr.mahendrag May 20, 2014 at 12:27 pm

खूबसूरत गीत

Reply
इन्दु पुरी May 22, 2014 at 6:27 am

tujhe aur ki tamanna mujhe teri aarzoo hai
tere dil me ghm hi ghm hai mere dil me tu hi tu hai………… kisi devotional song ki tarah iske shbd mere dil o dimaagh me ghoonjne lgte hain 'mere dil me tu hi tu hai…..' aur ranjha ranjha krte main aap hi raanjha hui wali sthiti e pahunch jati hun.
kahne ko ek drd bhra geet……mere liye ishwar se judne ka ek zariya bn jata hai babu!
kya krun aisiiich hun main to

Reply

Leave a Comment