Dil se Singer

जालिम ज़माना क्या जाने नाज़ुक दिल का हाल, सुनिए सहगल के स्वरों में

खरा सोना गीत – गम दिए मुस्तकिल  
प्रस्तोता – दीप्ती सक्सेना 
स्क्रिप्ट – सुजोय चट्टरज़ी
प्रस्तुति – संज्ञा टंडन  

Related posts

मदन मोहन का रचा एक मास्टरपीस गीत

Sajeev

ए सखी राधिके बावरी हो गई…बर्मन दा के शास्त्रीय अंदाज़ को सलाम के साथ करें नव वर्ष का आगाज़

Sajeev

“बाबुल गीत के लिए मैं जब भी मिलती हूँ, प्रसून को बधाई देती हूँ”- शुभा मुदगल : एक मुलाकात ज़रूरी है

Sajeev

Leave a Comment