Dil se Singer

शंकर पुणतांबेकर का व्यंग्य आम आदमी

इस साप्ताहिक स्तम्भ “बोलती कहानियाँ” के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको हिन्दी में मौलिक और अनूदित, नई और पुरानी, प्रसिद्ध कहानियाँ और छिपी हुई रोचक खोजें सुनवाते रहे हैं। पिछली बार आपने माधवी चारुदत्ता के स्वर में मुंशी प्रेमचंद की कथा “स्त्री और पुरुष” का पाठ सुना था।

आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं प्रसिद्ध व्यंग्यकार डॉ. शंकर पुणतांबेकर की व्यंग्यात्मक लघुकथा आम आदमी जिसे स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

कहानी “आम आदमी” का गद्य हिन्दी समय ब्लॉग पर उपलब्ध है। इस कथा का कुल प्रसारण समय 2 मिनट 40 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।



हिन्दी और मराठी के साहित्यकार डॉ. शंकर पुणतांबेकर का जन्म 1923 में हुआ था। वे अपने मारक व्यंग्य रचनाओं के लिए प्रसिद्ध हैं और ‘व्यंग्यश्री’, ‘चकल्लस’ व ‘मुक्तिबोध पुरस्कारों से सम्मानित हो चुके हैं।
 

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी


“हम मर मिटेंगे, लेकिन अपनी नैया नहीं डूबने देंगे… नहीं डूबने देंगे… नहीं डूबने देंगे।”
 (डॉ. शंकर पुणतांबेकर रचित “आम आदमी” से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर ‘प्ले’ पर क्लिक करें।)
 यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
आम आदमी MP3


#3rd Story, Aam Adami: Shankar Puntambekar/Hindi Audio Book/2014/3. Voice: Anurag Sharma

Related posts

तुझसे नाराज़ नहीं ज़िन्दगी – 01 (रवीन्द्र जैन)

PLAYBACK

अनुराग शर्मा की कहानी ‘खून दो’

Amit

राग कलिंगड़ा : SWARGOSHTHI – 439 : RAG KALINGADA

कृष्णमोहन

1 comment

माधवी March 4, 2014 at 2:58 am

धन्यवाद अनुरागजी,

छोटी पर बहुत सुंदर कहानी.और आपका अभिवाचन तो क्या कहें!

शंकर पुणतांबेकरजी की याद दिलाने के फिरसे शुक्रिया.

मेरे खयाल से इन्होने मराठी में कम और हिंदी मे ज़्यादा रचनाए की है ।

Reply

Leave a Comment