Dil se Singer

निराशा में डूबी रफ़ी साहब की बेखुद आवाज़ का नशा

खरा सोना गीत – हम बेखुदी में तुमको पुकारे चले गए 
प्रस्तोता – अर्शना सिंह 
स्क्रिप्ट – सुजॉय चट्टर्जी 
प्रस्तुति – संज्ञा टंडन 

Related posts

तुमको पिया दिल दिया कितने नाज़ से- कहा मंगेशकर बहनों ने दगाबाज़ से

Amit

गिरिजेश राव की कहानी एक सुख ऐसा भी

Smart Indian

शाहिद अजनबी की लघुकथा माँ तो सबकी एक-जैसी होती है

Smart Indian

2 comments

Anupama Tripathi January 30, 2014 at 4:36 am

सुंदर प्रस्तुति ।आभार .

Reply
Mohinder56 January 31, 2014 at 7:22 am

Mera Man pasand Geet hae ye Sajeev Ji.

Reply

Leave a Comment