Dil se Singer

निराशा में डूबी रफ़ी साहब की बेखुद आवाज़ का नशा

खरा सोना गीत – हम बेखुदी में तुमको पुकारे चले गए 
प्रस्तोता – अर्शना सिंह 
स्क्रिप्ट – सुजॉय चट्टर्जी 
प्रस्तुति – संज्ञा टंडन 

Related posts

महफ़िल ए कहकशां – 2 रंग वो जिसमे रंगी थी राधा, रंगी थी जिसमे मीरा…

Pooja Anil

ओल्ड इज़ गोल्ड के शुरूआती 100 गीत एक साथ

Amit

जाने वो कैसे लोग थे जिनके प्यार को प्यार मिला….पूरी तरह पियानो पर रचा बुना एक अमर गीत

Sajeev

2 comments

Anupama Tripathi January 30, 2014 at 4:36 am

सुंदर प्रस्तुति ।आभार .

Reply
Mohinder56 January 31, 2014 at 7:22 am

Mera Man pasand Geet hae ye Sajeev Ji.

Reply

Leave a Comment