Dil se Singer

जब दिलीप साहब को मिली तलत साहब की मखमली आवाज़

खरा सोना गीत – जब जब फूल खिले 
प्रस्तोता – दीप्ती सक्सेना 
स्क्रिप्ट – सुजॉय चट्टर्जी 
प्रस्तुति – संज्ञा टंडन 

Related posts

ओल्ड इज़ गोल्ड के शुरूआती 100 गीत एक साथ

Amit

मैं हूँ कली तेरी तू है भँवर मेरा, मैं हूँ नज़र तेरी तू है जिगर मेरा…लता का एक दुर्लभ गीत

Sajeev

आस्था और विश्वास के ३०० वर्ष (विश्व भर के सिख समुदायों को आवाज़ की शुभकामनायें)

Amit

Leave a Comment