Dil se Singer

मुंशी प्रेमचंद की कहानी “खून सफ़ेद”

इस साप्ताहिक स्तम्भ “बोलती कहानियाँ” के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछले सप्ताह आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में शोभा रस्तोगी “शोभा” की लघुकथा “कत्ल किसका” का पॉडकास्ट सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं मुंशी प्रेमचंद की कहानी “खून सफ़ेद” जिसे स्वर दिया है अर्चना चावजी ने।

कहानी “खून सफ़ेद” का कुल प्रसारण समय 30 मिनट 33 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।




मैं एक निर्धन अध्यापक हूँ…मेरे जीवन मैं ऐसा क्या ख़ास है जो मैं किसी से कहूं

~ मुंशी प्रेमचंद (१८८०-१९३६)


हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी कहानी


पादरी मोहनदास खेमे से बाहर निकले तो साधो उन्हें खड़ा दिखाई दिया
(मुंशी प्रेमचंद की कहानी “खून सफ़ेद” से एक अंश)




नीचे के प्लेयर से सुनें.

(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर ‘प्ले’ पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
खून सफ़ेद MP3
(लिंक पर राइट क्लिक करके सेव ऐज़ का विकल्प चुनें और ऑडियो फाइल सेव कर लें)

#9th Story, khoon safed: Munshi Premchand/Hindi Audio Book/2013/09. Voice: Archana Chaoji

Related posts

भटियाली संगीत की मिठास बर्मन दा के साथ

Sajeev

हम देखेंगे… लाज़िम है कि हम भी देखेंगे…

Amit

राग बसन्त : SWARGOSHTHI – 443 : RAG BASANT

कृष्णमोहन

1 comment

दिलबागसिंह विर्क March 12, 2013 at 4:28 pm

सुंदर प्रस्तुतिकरण

Reply

Leave a Comment