Dil se Singer

सुनो कहानी: जयशंकर प्रसाद की ममता

जयशंकर प्रसाद की कहानी ममता

‘सुनो कहानी’ इस स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछले सप्ताह आपने संज्ञा टंडन की आवाज़ में स्वामी विवेकानन्द की कथा ‘उपाय छोटा काम बड़ा‘ का पॉडकास्ट सुना था। आवाज़ की ओर से आज हम लेकर आये हैं जयशंकर प्रसाद की कहानी “ममता“, जिसको स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं। कहानी का कुल प्रसारण समय है: 9 मिनट 6 सेकंड।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं हमसे संपर्क करें। अधिक जानकारी के लिए कृपया यहाँ देखें।


झुक जाती है मन की डाली, अपनी फलभरता के डर में।
~ जयशंकर प्रसाद (30-1-1889 – 14-1-1937)


हर शनिवार को आवाज़ पर सुनिए एक नयी कहानी


ममता विधवा थी। उसका यौवन शोण के समान ही उमड़ रहा था।
(जयशंकर प्रसाद की “ममता” से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.
(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर ‘प्ले’ पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंकों से डाऊनलोड कर लें (ऑडियो फ़ाइल तीन अलग-अलग फ़ॉरमेट में है, अपनी सुविधानुसार कोई एक फ़ॉरमेट चुनें)

VBR MP3


#126th Story, Mamta: Jaishankar Prasad/Hindi Audio Book/2011/9. Voice: Anurag Sharma

Related posts

आपने जिसे चुना उन गीतों को हमने सुना मशहूर फिल्म समीक्षक अजय ब्रह्मात्मज जी के साथ – वर्ष २०१० के टॉप गीत

Sajeev

सभी शादी शुदा जोड़ों को अवश्य देखनी चाहिए ‘शादी के साईड एफ्फेक्ट्स’

Sajeev

ई मेल के बहाने यादों के खजाने – जब माँ दुर्गा के विविध रूपों से मिलवाया लावण्या जी ने

Sajeev

1 comment

सजीव सारथी April 16, 2011 at 5:12 am

मिक्सिंग कुछ प्रोपर नहीं हुई, patches का पता लग रहा है, वैसे एक क्लास्सिक कहानी को चुनने के लिए आभार

Reply

Leave a Comment